इजरायल देश के रोचक तथ्य |

इजराइल चारो ओर दुशमन देशो से घिरा है. देशभक्ति सीखनी है तो इजरायल से सीखो. आज हम इजरायल देश के बारे में रोचक तथ्य बताएंगे जिन्हे पढ़ने के बाद आप इस देश के फैन बन जाओगे. तो  इजरायल के बरे मे जनने के लिये  निचे देखे और पढ़ते jaaeye.

इजरायल देश के रोचक तथ्य |

1. इजराइल (Israel) दुनिया का एकमात्र यहूदी राष्ट है तथा इजरायल की यह नीति है कि पूरी दुनिया में अगर कहीं भी कोई भी यहूदी रहता है तो वह इजरायल का नागरिक माना जाएगा।

2. दुनिया के सबसे नए राष्ट्रों में इजराइल (Israel) एक राष्ट्र है जिसकी उम्र केवल 67 वर्ष है।

3. इजराइल (Israel) के धर्म के बाद अब बात करते हैं इजरायली राष्ट्रीय भाषा की तो हम बता दें कि इसराइल की राष्ट्र भाषा हिब्रू है तथा हिब्रू के बारे में यह कहा जाता है कि मध्यकाल में हिब्रू भाषा का अंत हो गया था तथा इस भाषा को कोई भी सीखने वाला नहीं बचा था। लेकिन इजरायल की स्थापना के बाद राष्ट्र भक्त यहूदीयो ने अपनी भाषा हिब्रू को इजराइल अधिकारिक भाषा बनाया और इस प्रकार हिब्रू का पुनःजन्म हुआ। इजराइल की दो अधिकारिक भाषा है, हिब्रू और अरबी। यह अपने भारत की तरह नहीं जिसने अपनी राष्ट्रीय भाषा बोलने में ही शर्म आती है।

4. इजरायल दुनिया का एकमात्र ऐसा मुल्क है, जहां महिलाओं को अनिवार्य रूप से सैन्य सेवा में काम करना होता है।

5. इजरायल दुनिया में उन 9 देशों में शामिल है, जिसके पास अपना सेटेलाइट सिस्टम है। जिसके इस्तेमाल से वो ड्रोन चलाता है। इजरायल अपने सेटेलाइट सिस्टम किसी के साथ साझा नहीं करता।

See also  The President Election in india ( For your GK )

6. इजरायल दुनिया का एकमात्र देश है, जिसके क्षेत्र में 21वीं सदी में 20वीं सदी की तुलना में अधिक वृक्ष थे।

7. Narendra Modi उस समय प्रधानमंत्री नही थे जब उन्होने इजरायल की यात्रा की थी.

8. इजरायल की वायुसेना दुनिया में चौथे नंबर की वायुसेना है।यह किसी भी हमले की सूरत में न सिर्फ जवाब देने में सक्षण हैं, बल्कि किसी भी दुश्मन को पल भल में तहस नहस करने की क्षमता रखते हैं। सिर्फ अमेरिका, रूस और चीन ही उससे आगे है।

इजराइल कभी किसी देश या संगठन को यह नहीं कहता कि हमारे देश में आंतकवादी घटनाये या हमला मत कीजिये….
बल्कि इजराइल कहता है अगर किसी ने हमारे देश के एक नागरिक को मारा तो हम उस देश में घुस कर के उसके 1000 नागरिकों को मार देंगे।

इजराइल के बारे में एक विचित्र तथ्य यह भी है कि इजराईल ने आज तक अपने किसी भी दुश्मन को जीवित नहीं छोड़ा। इजराइल के ऊपर हमला करने वाले सभी दुश्मनो की मृत्यु निश्चित है।

भारत का नंबर एक दुश्मन पाकिस्तान भी इसराइल से कितनी घृणा करता है, इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि हर पाकिस्तानी पासपोर्ट पर साफ शब्दों में लिखा होता है कि यह पासपोर्ट इजराइल को छोड़कर किस किसी भी राष्ट्र में मान्य है।

  • गोरिल्ला युद्ध से खौफ खाता है आईएसआईएस
See also  Utkal University Recruitment 2017 for lecturer job

खोजी पत्रकार (जुर्गेन टुडेन हॉफर) ने बताया है कि आईएसआईएस के आतंकियों को अमरीकी और ब्रिटिश सैनिकों से लड़ने में कोई डर नहीं लगता। उनका मानना है कि आईएसआईएस जमीनी लड़ाई में अमरीकियों और ब्रिटिश सैनिकों को पस्त करना कोई बड़ी बात नहीं मानता है, लेकिन इजरायल के सैन्य कमांडों से गोरिल्ला युद्ध करना आसान नहीं कहता है।

 इजरायल की ताकत

इजराइल खुद पहले हमला नहीं करता, बस उसको कोई छेड़े तो इजराइल उसे छोड़ता नहीं। इजराइल की मोसाद का तो ऐसा खौफ है की मोसाद के डर से किसी आतंकी संगठन के मुखिया या किसी मुस्लिम देश के नेता इजराइल की तरफ आंख उठाके देख भी नहीं सकते। म्युनिक ओलिंपिक में जिहादी तत्वों ने इजराइल के खिलाडियों की जर्मनी में हत्या कर दी थी और वो जिहादी तत्व किसी मुस्लिम देश में जा छुपे थे, जिनकी संख्या सैंकड़ो में थी इजराइल की मोसाद के 30 जवान उस मुस्लिम देश में घुसकर उन जिहादियों को मार आये थे। इजराइल की मोसाद का सिर्फ एक जवान शहीद हुआ था।

 क्या है ‘मोसाद’

मोसाद का मतलब मौत। एक बार जो मोसाद की निगाह में चढ़ गया, उसका बचना मुश्किल है। मोसाद के खूंखार एजेंट उसे दुनिया के किसी भी कोने से ढूंढ निकालने का दमख़म रखते हैं। यही वजह है, कि इजरायल की इस खुफिया एजेंसी को दुनिया की सबसे ख़तरनाक एजेंसी कहा जाता है। मोसाद की पहुंच हर उस जगह तक है जहां इजरायल या इजरायल के नागरिकों के खिलाफ कोई भी साजिश रची जा रही हो। मोसाद का इतिहास 63 साल पुराना है। मोसाद का हैडक्वार्टर इजराइल के तेल अवीब शहर में है। मोसाद यानी इंस्टीट्यूट फॉर इंटेलीजेंस एंड स्पेशल ऑपरेशन इजरायल की नेशनल इंटेलीजेंस एजेंसी।

See also  NIOS D.EL.ED Study material

जब फिलिस्तीनी आतंकवादियो ने 1972 के म्यूनिख ओलंपिक गेम्स विलेज में घुसकर 12 इस्राइली खिलाडियों की हत्या कर दी थी, तब प्रधानमंत्री श्रीमती गोल्डा मायर ने सारे मृत खिलाडियो के घरवालो को खुद फोन करके कहा की हम बदला लेकर रहेंगे। उन्होंने अपनी गुप्तचर एजेंसी मोसाद को पूरी छुट दे दी और कहा “इस घटना में जितने लोग भी शामिल है, वो चाहे दुनिया के किसी भी देश में हो , उनको जिन्दा नहीं रहने देना है।

इजराइल अपनी जनसंख्या की जरूरत के हिसाब से 95% खाद्यान्न खुद उपजाता जाता है। कृषि उत्पादों के मामले में इजराइल लगभग पूरी तरह से ही आत्मनिर्भर है।

इजराइल के लोगों की मेहनत और बुद्धि का एक नमूना आप देखिए कि पिछले 25 सालों में इसराइल के कृषि उत्पादन में 7 गुणा बढ़ोत्तरी हुई है लेकिन पानी पहले जितना प्रयोग किया जा रहा है। इजराइल में लगभग 90% जनसंख्या सौर ऊर्जा का प्रयोग करती है, जो पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा है।

व्यवसायिक दृष्टि से भी इसराइल दुनिया में तीसरे स्थान पर है। इजराईल में करीब 3500 से भी ज्यादा टेक्नोलॉजी कंपनी है जो पूरी दुनिया में सिलिकॉन वैली के बाद दूसरे नंबर पर आती है।

 

Leave a Comment